Latest SMS

By: Sneha In: Love SMS

Mujhe Maloom Hai
Meri Aankho'n Ko
Talaash Kis Ki Hai..!!
.
.
.
..
Tujhe Dekhoo'n To
Bas Manzil Ka Yakeen
Hota Hai....!!!!

I Like SMS - Like: 7 - SMS Length: 130 - Share
Tags: Love SMS
Added 1 day ago
By: Sneha In: Love SMS

Meri Adaayein Kyu
Na Katilana Hon..!!
.
.
.
..
Mere Sanam Ne
Bade Pyaar Se
Sanwara Hai Mujhe....!!!!

I Like SMS - Like: 2 - SMS Length: 108 - Share
Tags: Love SMS
Added 1 day ago

एक जिम्मेदार पति डॉक्टर के पास गया और कहा कि डॉक्टर साहब मेरी बीबी बहरी हो गयी है, मैं कमरे से आवाज़ लगाते रहता हूँ पर वो सुन नहीं पाती है ..!!

डॉक्टर – आप उन्हें यहाँ ले आइये !

पति : नहीं डॉक्टर साहब,
मै उससे बहुत प्यार करता हूं और इस बारे में उसे कुछ भी नहीं बताना चाहता,
आप कोई दवा दे दीजिये, जिसे मैं उसे बिना कुछ कहे खिला दू

डॉक्टर : ठीक है, पहले आप एक टेस्ट कीजिये
आप 40 फ़ीट दूर से पूछिये – HOW ARE YOU…
यदि वो नहीं सुन पाये तो फिर 30 फ़ीट दूर से पूछिये
फिर भी नहीं सुन पाये तो 20 फ़ीट . फिर 10 फ़ीट

तब आप आ के मुझसे मिलियेगा, उस हिसाब से मैं उनके लिए दवाईयां प्रिस्क्राइब करूँगा..!!

पति खुश हो कर रात को घर में जाता है, बीबी किचन में खाना बना रही होती है

पति 40 फ़ीट से पूछता है
डार्लिंग आज खाने में क्या बना रही हो ????

बीबी जवाब नहीं देती

30 फ़ीट से, स्वीटी आज खाने में क्या बना है ????
कोई जवाब नही मिलता.

20 फ़ीट से, जानू आज खाने में क्या बना है ????
नो रिस्पॉन्स…

10 फ़ीट से, डार्लिंग आज खाने में क्या है ????

फिर भी कोई जवाब नहीं तो पति एकदम से पीछे चिपक के उससे पूछता है..
डार्लिंग आज खाने में क्या है ?????

तब बेचारी पलट कर कहती है.

.

.

.


..

.
.
.
.
.

.
.
.

5 बार तो बता चुकी हूँ .
“आलू के पराठे बनाये हैं..!!”

अक्सर समस्या होती हमारे साथ है और हम ढूँढते दूसरे में हैं ।

I Like SMS - Like: 15 - SMS Length: 2910 - Share
Tags: Hindi SMS
Added 2 days ago

भगवान् बुद्ध क एक अनुयायी ने कहा , ” प्रभु ! मुझे आपसे एक निवेदन करना है .”

बुद्ध: बताओ क्या कहना है ?

अनुयायी: मेरे वस्त्र पुराने हो चुके हैं . अब ये पहनने लायक नहीं रहे . कृपया मुझे नए वस्त्र देने का कष्ट करें !

बुद्ध ने अनुयायी के वस्त्र देखे , वे सचमुच बिलकुल जीर्ण हो चुके थे और जगह जगह से घिस चुके थे …इसलिए उन्होंने एक अन्य अनुयायी को नए वस्त्र देने का आदेश दे दिए.

कुछ दिनों बाद बुद्ध अनुयायी के घर पहुंचे .

बुद्ध : क्या तुम अपने नए वस्त्रों में आराम से हो ? तुम्हे और कुछ तो नहीं चाहिए ?

अनुयायी: धन्यवाद प्रभु . मैं इन वस्त्रों में बिलकुल आराम से हूँ और मुझे और कुछ नहीं चाहिए .

बुद्ध: अब जबकि तुम्हारे पास नए वस्त्र हैं तो तुमने पुराने वस्त्रों का क्या किया ?

अनुयायी: मैं अब उसे ओढने के लिए प्रयोग कर रहा हूँ ?

बुद्ध: तो तुमने अपनी पुरानी ओढ़नी का क्या किया ?

अनुयायी: जी मैंने उसे खिड़की पर परदे की जगह लगा दिया है .

बुद्ध: तो क्या तुमने पुराने परदे फ़ेंक दिए ?

अनुयायी: जी नहीं , मैंने उसके चार टुकड़े किये और उनका प्रयोग रसोई में गरम पतीलों को आग से उतारने के लिए कर रहा हूँ.

बुद्ध: तो फिर रसॊइ के पुराने कपड़ों का क्या किया ?

अनुयायी: अब मैं उन्हें पोछा लगाने के लिए प्रयोग करूँगा .

बुद्ध: तो तुम्हारा पुराना पोछा क्या हुआ ?

अनुयायी: प्रभु वो अब इतना तार -तार हो चुका था कि उसका कुछ नहीं किया जा सकता था , इसलिए मैंने उसका एक -एक धागा अलग कर दिए की बातियाँ तैयार कर लीं ….उन्ही में से एक कल रात आपके कक्ष में प्रकाशित था .

बुद्ध अनुयायी से संतुष्ट हो गए . वो प्रसन्न थे कि उनका शिष्य वस्तुओं को बर्वाद नहीं करता और उसमे समझ है कि उनका उपयोग किस तरह से किया जा सकता है।

मित्रों , आज जब प्राकृतिक संसाधन दिन – प्रतिदिन कम होते जा रहे हैं ऐसे में हमें भी कोशिश करनी चाहिए कि चीजों को बर्वाद ना करें और अपने छोटे छोटे प्रयत्नों से इस धरा को सुरक्षित बना कर रखें.

I Like SMS - Like: 10 - SMS Length: 4264 - Share
Added 2 days ago

!! एक दरिया था एक किनारा था !!
!! मेरा गावं बहुत ही प्यारा था !!
!! छत्त टपकती थी बारिशों में---- -!!
!! घर था कच्चा मगर हमारा था-

I Like SMS - Like: 9 - SMS Length: 295 - Share
Tags: Hindi SMS
Added 2 days ago
Previous 3 4 5 6 7 Next
Page(5/7610)
Jump to Page